कोलकाता पुलिस का एंटी-ड्रग्स अभियान

 रिपोर्ट - तारकेश्वर राय 



कोलकाता पुलिस कानून व्यवस्था बनाए रखने और यातायात प्रबंधन  के साथ-साथ अपने सामाजिक दायित्व का भी निर्वहन भी बड़ी ही संजीदगी से कर रही है। कोलकाता पुलिस द्वारा समय-समय पर जागरूकता अभियान के माध्यम से महत्वपूर्ण विषयों पर लोगों को जागरूक करने का भी प्रयास बखूबी किया जाता है।  चाहे बात साइबर अपराध  से जागरूक करने या ट्रैफिक नियमों  के बारे में जानत को बताने की या फिर नशे के खिलाफ पुलिस की मुहिम की , पुलिस अपना दायित्व बखूबी निभा रही है।  इसी क्रम में कोलकाता पुलिस की नॉर्थ डिविजन के  डीसीपी अभिषेक गुप्ता आईपीएस के नेतृत्व में एंटी ड्रग्स अभियान चलाया जा रहा है।  जैसा कि हम सभी देख रहे हैं  कि आज का युवा समाज दोस्तों द्वारा फैशन का हवाला देकर आजकल नशे का सेवन कर रहा है। जो शराब नहीं पीता, उसे उसके दोस्त कहते हैं यह कोई नशा नहीं है, य़ह तो फैशन है, इसलिये हम पीते हैं। साथ ही वो बड़े आत्मविश्वास से बोलते हैं, इसका क्या कल छोड़ दे, लेकिन इसे छोड़ने के बाद वो आज की दुनिया का हिस्सा कैसे बनेंगे? इसे छोड़ते ही वो आधुनिकता से बाबा युग के जमाने में पहुंच जाएंगे। तुम भी आज की  दुनिया का हिस्सा बनना चाहते हो, तो आओ इसे पीओ और जियो। बस ऐसी बेतुकी बातों से नशे से दूर रहने वाला भी उनकी संगत में आकर  अपने परिवार पर बोझ बन जाता है। नशे के इस दलदल में पुरुष ही नहीं, महिलाएं भी बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रही है।  वो इस बात से बेखबर है कि उनका भविष्य अंधकार की ओर जा रहा है। जरूरी है समय रहते नशे में डुबे युवाओं को बाहर निकालना ,ताकि इनका भविष्य स्वस्थ एवं निरोगी  हो और इसी को ध्यान में रखते हुए कोलकाता पुलिस की नॉर्थ डिविजन द्वारा युवाओं को जागरूक करने का प्रयास किया जा रहा है।  इस अभियान में विभिन्न स्कूलों के छात्र व छात्राओं को शामिल कर उन्हें इस जानलेवा नशे के  विषय में अवगत करवाया  जा रहा है।  पुलिस द्वारा चलाए जा रहे इस अभियान में समाजसेवी लोगों के साथ-साथ  प्रसिद्ध खिलाड़ियों का भी  सहयोग मिल रहा है।  शहर के लोगों की माने तो  पुलिस का यह प्रयास काबिले तारीफ है. लोगों को उम्मीद है पुलिस के अभियान से युवा वर्ग जागरूक होंगे और नशे को बाय-बाय करेंगे।